Sat. Feb 4th, 2023

सूक्तियाँ

सूक्तियाँ (The points) -Dr. G. Bhakta article
 1 . शिक्षा जीवन को सजाती है ।
 2 . ज्ञान कर्म को दिशा प्रदान करता है ।
 3 . धर्म हमारे कर्म में शुचिता लाता है ।
 4 . मन में भावनाओं की तरंगे लहराती है ।
 5 . बुद्धि भावनाओं पर नियंत्रण करती है ।
 6 . विवेक द्वारा निर्णय प्रभावित होता है ।
 7 . ज्ञान द्वारा मन , बुद्धि और विवेक को नियंत्रित करने की दिशा प्रदान की जाती है जो सत्य और असत्य को स्पष्ट करती है ।
 8. शिक्षा शुद्ध जल है और धर्म साबुन , जिससे मनोदैहिक शुद्धता आकर कर्म सुधरता है ।
 9. व्यावहारिक जीवन में भूल वश हम आडम्बर को ही धर्म समझकर बहुमूल्य जीवन को बर्वाद कर देते हैं ।
 10 . धर्म ज्ञान जन्य शिक्षण की वह चाभी है जो हमें सदा सत्य का ही दर्शन करने का मार्ग खोलती है ।
 11 . प्रेम अपनत्व लाता है अगर उसमें ममता और स्वार्थ न जुड़ा हो । ये दोनों ही एकता और समानता के लिए बाधक है ।
 12 . जो पूरे विश्व को एक सूत्र में बाँधे वह प्रेम छोड़ कर दूसरा कुछ भी नही हो सकता ।
 13 . जिन्हें सेवा में संतुष्टि मिलती है , विश्व उन्हीं को अपना स्वीकारता है ।
 14 . किसी को निःस्वार्थ कुछ भी अर्पित कर देना उनका सर्वस्व जीत लेने के तुल्य है ।
 15 . ईश्वर एक कल्पना है , हम माता – पिता एवं गुरु में ही उस स्वरुप को पहचानें । ऐसी पहचान उनके सान्निध्य और सेवा से ही संभव है ।

 डा ० जी ० भक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *