Sat. Feb 4th, 2023

Category: सोशल ट्रेंड्स

जीना मुश्किल है

जीना मुश्किल है डा० जी० भक्त सहयोग – असहयोग, समर्थन विरोध, अत्याचार भ्रष्टाचार प्रोत्साहन और धोखाघरी आदि परस्पर विरोधी परिस्थितियाँ तो बाधक घातक और बिनाशक होती ही है किन्तु विश्वासघात…

कोरोना पर चिकित्सा जगत की पहुँच कितनी विश्वसनीय

कोरोना पर चिकित्सा जगत की पहुँच कितनी विश्वसनीय डा० जी० भक्त अगर कहा जाय कि कोरोना के प्रति विश्व जंग अधूरा रहा तो इसमे कोई बड़ी भूल नही मानी जा…

बिना आधार की जनसंख्या नियंत्रण नीति

बिना आधार की जनसंख्या नियंत्रण नीति डा० जी० भक्त विचार है कि विश्व में आज बढ़ती आबादी और उसके सर्वतोमुखी जीवनीय प्रश्नों के निदान हेतु निर्धारित जन संख्या के अनुरूप…

व्यंगवाण, प्रदूषण पर जंग जारी

व्यंगवाण, प्रदूषण पर जंग जारी -:चिन्तन दो टूक:- डा० जी० भक्त आज का दैनिक जागरण अपने देश के अधिकांश शहरों के वातायन को जहरीला करार देता हुआ एवं कारणों को…

क्या मजाक हैं, हमारा परिवेश और वर्तमान युग का कठोर सच

क्या मजाक हैं हमारा परिवेश और वर्तमान युग का कठोर सच डा. जी. भक्त अभिव्यक्ति कुछ मेरी, कुछ आपकी क्या लिखूं बहुत लोग लिख गये, लाखों पन्नों में लिख गये…

रोटी कपड़ा और मकान -डॉ० जी० भक्त

रोटी कपड़ा और मकान डॉ० जी० भक्त इस धरती पर मनुष्य अन्य जीवों से इतना ही पृथक है कि उसकी बुनियादी माग कहें या राजनैतिक अधिकार या मानवता के नाते…

स्वतंत्र या गुलाम -डा० जी० भक्त

स्वतंत्र या गुलाम डा० जी० भक्त शीर्षक प्रथमतया विषय वस्तु से सम्बन्ध रखता है। हम स्वतंत्र भारतीय है या गुलाम इसका उत्तर जटिल है और सामान्य भी अगर हम अपने…