Sat. Jun 22nd, 2024

Category: धार्मिक एवं अध्यात्म

प्रभाग-02 बाल काण्ड रामचरितमानस

प्रभाग-02 बाल काण्ड रामचरितमानस बालकाण्ड में वर्णित मललाचरण का विस्तार व्यापक है । खूबी है कि अपनी वन्दना के क्रम में स्वाभी – जीने सचराचर जगत को समन्वित रुप में…

प्रभाग-01 बाल काण्ड रामचरितमानस

प्रभाग-01 बाल काण्ड रामचरितमानस रामचरित मानस ग्रंथ की रचना में भक्त कवि तुलसी दास जी ( सोलहवीं शताब्दी ) ने अन्य काव्यग्रंथों की परम्परा का भली प्रकार से निर्वाह करते…

भाग-3 धर्म एवं अध्यात्म

भाग-3 धर्म एवं अध्यात्म 81. धार्मिक विचारों और सम्प्रदायों का उदय सामाजिक व्यवस्था और विषमता के कारण हुआ , विभेदक स्थितियों से जो सामाजिक जीवन में दुराव और उपेक्षा की…

भाग-2 धर्म एवं अध्यात्म

भाग-2 धर्म एवं अध्यात्म 45. ईश्वर को धर्म से जोड़कर प्रभावी बनाने का प्रयास किया गया । इस व्यवस्था से भक्ति भावना का जन्म हुआ जो हमारे ज्ञान का विषय…

प्रेम वासना और भक्ति

प्रेम वासना और भक्ति देह और प्राण की संयुक्त भूमिका ही जीवन है । यह प्रकृति की दिव्य देन है । दैहिक सत्ता में प्राण वह ऊर्जा है जो उसे…